मां की सरकारी नौकरी पाना चाहता था कलयुगी बेटा,दोस्त के साथ मिलकर उठाया ये खौफनाक कदम

बदायूं. यूपी के बदायूं में एक कलयुगी बेटे ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अपनी मां की हत्या कर दी। आरोपी ने अपनी मां की सरकारी नौकरी और पांच लाख रूपए पाने के चक्कर में यह कदम उठाया और शव को एक गढरी में बांधकर खेत में फेंक दिया। पुलिस ने इस मामले में कलयुगी पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं आरोपी ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है। 

-दरअसल, यह घटना थाना दातगंज के गांव पापड़ की है।

-यहां रहने वाली सुशीला पीडब्लूडी में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थी। 

-सुशीला बदायूं में सरकारी क्वाटर लेकर रह रही थी और कभी-कभी अपने गांव में भी रहने चली जाती थी और अपने बेटे को खर्चे के लिए पैसा भी देती थी। 

-सुशीला का बेटा बेरोजगार था और कभी-कभी बेलदारी कर लिया करता था। 

-राजीव ने अपनी मां सुशीला से खर्चे के लिए पैसे मांगे थे, लेकिन मां ने रुपए देने से मना कर दिया। 

-इसी बात से नाराज होकर राजीव ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अपनी मां की हत्या की साजिश रच दी। 

-कलयुगी पुत्र राजीव ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अपनी मां की गला दबाकर हत्या कर दी और शव खेत में फेंक दिया। 

-जब पुलिस ने संदेह के आधार पर कलयुगी पुत्र राजीव को पकड़ा तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया और कहने लगा वह दोस्त की बातों में आ गया और सरकारी नौकरी पाना चाहता था। जिस कारण उसने अपनी मां की हत्या कर दी। 

-वहीं पुलिस का कहना है कि  युवक ने अपनी मां की हत्या इसलिए कर दी कि उसे सरकारी नौकरी मिल जाएगी और पांच लाख रूपए मिल जाएंगे।