नोएडा के तीन लाख बायर पर एक्सट्रा चार्ज की मार

नोएडा में 2002 से 2014 के बीच फ्लैट या कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने वाले करीब 3 लाख बायर को बड़ा झटका लगा है। किसानों को एक्स्ट्रा मुआवजा देने के लिए अथॉरिटी ने सभी आवंटियों को नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है। आवंटियों को कहा गया है कि वे एक महीने के अंदर एक्स्ट्रा चार्ज जमा करा दें। अथॉरिटी ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश पर अमल करते हुए किसानों को 64.7 पर्सेंट अतिरिक्त मुआवजा देने का फैसला किया है। इसके तहत यह नोटिस भेजा जा रहा है।

2002 से 2014 के बीच बिल्डरों और अन्य आवंटियों ने अलग-अलग दरों पर अथॉरिटी से प्रॉपर्टी ली थी। अब अथॉरिटी ने सभी के लिए एक समान 2280 रुपये वर्गमीटर का रेट तय किया है। बकाया जमा करने का नोटिस ग्रुप हाउसिंग डिपार्टमेंट ने पिछले महीने जारी किया है।

अथॉरिटी का लेटर मिलने के बाद बिल्डरों की संस्था क्रेडाई ने फैसला किया है कि बायर्स से 57 रुपये प्रति वर्ग फुट के हिसाब से एक्स्ट्रा चार्ज लिया जाए। क्रेडाई ने 5 सितंबर को अथॉरिटी को पत्र लिखकर राहत मांगी है। क्रेडाई (वेस्टर्न यूपी) की ओर लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है कि जिन बायर्स ने पजेशन लेने के बाद रजिस्ट्री करवा ली है, उनसे एक्स्ट्रा चार्ज वसूलना मुश्किल है। ऐसे बायर से एक्सट्रा चार्ज अथॉरिटी खुद वसूले। जिन प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री नहीं हुई है उनके खरीदार से एक्स्ट्रा चार्ज लेकर बिल्डर जमा करा देंगे।