देश के नौजवान तय करें कौन है पढ़ा-लिखा: स्मृत‌ि ईरानी

केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री स्मृति ईरानी आज राजधानी लखनऊ पहुंचीं। यूथ इन एक्शन द्वारा भारतीय शिक्षा पद्धति में राष्ट्रदर्शन विषय पर व्याख्यान देने पहुंची स्मृति ईरानी ने इस दौरान छात्रों के साथ सीधा संवाद किया। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित भारतीय शिक्षा पद्धति में राष्ट्रदर्शन विषय पर व्याख्यान देने पहुंची स्मृति ईरानी ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं की स्थिति बेहद खराब है। उन्होंने कहा महिलाओं की सुरक्षा युवाओं को करनी होगीए यदि कोई सड़क पर किसी महिला को छेड़े तो युवा छात्र ढाल बनकर उसकी रक्षा करें। इसके अलावा उन्होंने बताया कि दो माह के अंतराल में मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय स्वयं नाम का एक मोबाइल ऐप शुरू कर रहा है जिसके ज़रिये छात्र नौवीं से लेकर उच्च शिक्षा की डिग्री ग्रहण कर सकेंगेए इसके लिए देश भर में करीब एक लाख सेंटर खोले जायेंगे। इन सेंटरों में मात्र 500 रुपये जमा कर परीक्षा देनी होगी। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में यह एक क्रांतिकारी कदम होगा। साथ ही छात्रों की सुविधा के लिए सभी संस्थानों को आदेश दिया गया है की 180 दिन के अंदर डिग्री उपलब्ध करायी जाए। स्मृति ईरानी छात्रों को संबोधित कर ही रही थीं कि इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान की बिजली चली गयी। स्मृति ईरानी ने चुटकी लेते हुए कहा कि मुझे लगा था चुनाव के दौरान बिजली गायब की जायेगी और माइक बंद किया जायेगा लेकिन इसका शंखनाद तो आज से ही हो गया। व्याख्यान के दौरान छात्रों द्वारा भारत माता के जयघोष करने पर स्मृति ने कहा कि यह जयघोष सुनकर जेएनयू के उन छात्रों का दिल दहला ज़रूर होगा जो भारत की बर्बादी के नारे दे रहे थे।