लोगों को जिंदगी देने वाले की गटर में हुई दर्दनाक मौत, जानें कारण

मुंबईः डॉक्टरों को जिंदगी देने वाला बताया जाता है। अपने कैरियर में वे न जाने कितने लोगों की जिंदगी बचाते हैं। लेकिन एक डॉक्टर की गटर में मौत हो तो उसे आप क्या कहेंगे।
जी हां, यह सच है। स्थानीय नगर निगम की लापरवाही ने एक डॉक्टर की जान ले ली।

मुंबई में दो दिन पहले हुई भारी बारिश में लाखों लोग यहां-वहां फंस गए थे। बॉम्बे हॉस्पिटल के डॉक्टर दीपक अमरापुरकर भी उनमें थे। शाम हो रही थी। 
-क्या खयाल आया, डॉ अमरापुरकर ने अपनी कार स्टेशन की पार्किंग में पार्क कर दी और कमर तक पानी में पैदल ही चलकर घर को जाने लगे। शाम करीब साढे़ छह हो रहा था। 
-अभी डॉ अमरापुरकर एलफिंस्टन रोड से जा ही रहे थे कि सड़क पर खुल मैनहोल में गिर गए। बताया जा रहा है कि उन्हें मैनहोल की ओर जाता देख कुछ लोगों ने आवाज लगाई।

-एक शख्स ने उन्हें बचाने की कोशिश भी की. लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। आज उनका शव बरामद कर लिया गया।
-मुंबई के लोग डॉ अमरापुरकर की मौत के लिए बीएमसी को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उधर बीएमसी का कहना है कि उसके लोगों ने मैनहोल को नहीं खोला था। किसने मैनहोल को खोला था, इसकी जांच की जा रही है।