कोर्ट ने खट्टर सरकार की फिर की खिंचाई 'राजनीतिक फायदे के लिए होने दी हिंसा'

नई दिल्लीः हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर का जाना अब तय माना जा रहा है। केंद्र सरकार खासतौर पर पीएम नरेंद्र मोदी खट्टर से नाराज बताए जाते हैं। बलात्कारी बाबा की गिरफ्तारी के बाद हरियाणा समेत पांच राज्यों में जिस तरह हिंसा हुई, उसे केंद्र सरकार काफी चिंतित हो गई है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज हरियाणा, पंजाब और दिल्ली के पुलिस अधिकारियों की बैठक बुलाई। बैठक में राजनाथ सिंह ने हालात का जायजा लिया। 

लगातार तीन बार खट्टर सरकार रही फेल

-यह पहला मौका नहीं था जब कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर खट्टर सरकार फेल हुई हो। इससे पहले जाट आरक्षण आंदोलन के समय भी सरकार के गलत फैसलों के चलते रोहतक में हिंसा फैल गई थी।
-जाट आंदोलन के दौरान उपद्रवकारियों ने सरकारी संपत्ति को जमकर नुकसान पहुंचाया था। उस दौरान भी हाईकोर्ट ने सरकार की जमकर खिंचाई की थी।
-उससे पहले 2014 हिसार के सतलोक आश्रम को रामपाल के कब्जे से मुक्त कराने के अभियान को संभालने में भी खट्टर सरकार नाकाम रही। इस कार्रवाई में पांच लोगों की जानें गई थीं।
-भाजपा के अंदर भी अब खट्टर के खिलाफ आवाजे उठने लगी हैं। भाजपाई कहने लगे हैं कि पहली बार एमएलए बने खट्टर को प्रशासनिक अनुभव नहीं है। यही वजह है कि पुलिस और ब्यूरोक्रेसी को ठीक ढंग से संभाल नहीं पा रहे हैं।

कोर्ट ने खट्टर सरकार की फिर की खिंचाई

-पंजाब और हरियाणा सरकार ने एक बार फिर मनोहर लाल खट्टर सरकार की तीखी खिंचाई की है। 
-कोर्ट ने कहा कि राजनीतिक फायदे के लिए शहर को जलने दिया गया। ऐसा लगता है कि सरकार ने सरेंडर कर दिया।
-हिंसा और आगजनी के बाद कल कोर्ट ने कड़ा रूख अपनाते हुए राम रहीम की संपत्ति को जब्त कर उससे नुकसान की भरपाई करने के निर्देश दिए थे।

सिरसा में डेरे में घुसी सेना

-राम रहीम के सिरसा डेरे में आज सेना और पैरा मिलिट्री के जवान घुस गए। जिस वक्त जवान डेरे में घुसे थे, उस वक्त वहां करीब एक लाख समर्थक जुटे थे। 
-सेना और पैरा मिलिट्री के जवानों ने वहां चप्पे-चप्पे की जांच की। सिरसा में आज भी सेना ने फ्लैग मार्च किया। 
-आइजी अमिताभ ढिल्लो ने कहा कि आज कोई झड़प नहीं हुई है, हम शांति चाहते हैं और उसी की कोशिश कर रहे हैं। 
-सेना केवल शहर में फ्लैग मार्च कर रही है। डेरे में मौजूद समर्थकों से अपील की गयी है कि वे डेरा खाली कर दें।

छह सुरक्षागार्ड के खिलाफ देश द्रोह का मुकदमा

-राम रहीम के छह गार्डों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया। गार्डों ने कोर्ट परिसर में आईजी लेवेल के एक आईपीएस अधिकारी के साथ बदतमीजी की थी। 
-बताया जाता है कि फैसला आने के बाद आईजी ने राम रहीम को अरेस्ट करने के लिए कहा तो उनके गार्ड ने पुलिस को रोक लिया। कहासूनी में राम रहीम के गार्डस ने आईजी को थप्पड़ जड़ दिया।