इस पूर्व मंत्री को अब पता चल रहा सत्ता से बाहर रहने का मतलब

मेरठः सत्ता की हनक क्या होती है, यह शायद सपा के पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर से बेहतर और कोई नहीं जान सकता है। अखिलेश सरकार में उनकी तूती बोलती थी। जो मन आया सो किया। बिना नक्शे का मकान बनवाना हो या शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, उनसे संपर्क करने पर सारे काम चुटकी में हो जाते थे। मंत्रीजी को नियम कानून से कोई वास्ता नहीं है तभी तो उन्होंने बिना नक्शा पास कराए अपना खुद का शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बना दिया। लेकिन अब योगी सरकार में उनकी मनमर्जी पर बुल्डोजर चल गया।

कॉम्प्लेक्स पर चल गया एमडीए का बुल्डोजर

-सपा में पश्चिम उत्तर प्रदेश के मुस्लिम चेहरा मुशाहिद मंजूर के अवैध कॉन्पलेक्स पर आज एमडीए का बुल्डोजर चल गया। 
-सुबह से ही पुलिस और एमडीए के अधिकारी ने बेगमपुल पर बने करोड़ों रुपए के शॉपिंग कॉम्प्लेक्स को गिराने में लगे हुए हैं। 
-मजे की बात है कि पहले से उनके समर्थकों ने टोकाटोकी की लेकिन कुछ देर बाद खुद शाहिद मंजूर मौके पर पहुंचे और समर्थकों को वहां से वापस जाने को कहा।
-शाहिद मंजूर की मौजूदगी में कॉम्प्लेक्स के एक हिस्से को गिराया गया। इधर बुलडोजर बिल्डिंग को तोड़ते रहे, उधर शाहिद मंजूर अधिकारियों से बतियाते रहे।

सपा सरकार में मनमाना काम करवाया

-सपा सरकार में शाहिद मंजूर ने अधिकारियों से मनमाना काम करवाया। पॉश इलाके बेगमपुल में बगैर नक्शा पास कराए करोड़ों रुपए की कीमत का अवैध कॉन्पलेक्स तैयार करके खड़ा करा दिया। 
-सत्ता बदलते ही प्रशासन को कार्रवाई करने का मौका मिल गया। प्रदेश सरकार से हरी झंडी मिलते ही एमडीए ने आज कार्रवाई शुरू कर दी।

पंचायत अध्यक्ष के चुनाव का हो रहा था इंतजार

-कहा जा रहा है कि प्रदेश सरकार जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव तक इंतजार करना चाह रही थी। ताकि इसका प्रभाव चुनाव पर न पड़ सके। 
-कांपलेक्स के दुकानदारों ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि काॅम्प्लेक्स का नक्शा पास नहीं कराया गया था। उन्होंने बताया कि एमडीए को कार्रवाई करने से पहले उन्हें नोटिस दिया जाना चाहिए था।