हिमाचल में तैयार हुई गोभी की खास किस्म, फायदे सुनेंगे तो चौंक जाएंगे

 हड्डियां कमजोर हों या दांत। पाचन क्रिया गड़बड़ हो या खून की कमी। गर्भवती महिलाओं में कैल्शियम और आयरन की कमी को भी खास किस्म की सोलन बंद सरसों गोभी दूर कर देगी।

तीन साल रिसर्च के बाद नौणी विश्वविद्यालय वनस्पति विज्ञान विभाग ने चाइनीज गोभी के नाम से प्रचलित किस्म से ‘सोलन बंद सरसों’ के नाम से बंदगोभी की हाईब्रिड वैरायटी तैयार की है।

शिमला, किन्नौर, सोलन और चायल में इसके उत्पादन का सफल ट्रायल चल रहा है। सोलन बंद सरसों गोभी को उगाने के लिए बड़े खेतों की जरूरत भी नहीं है। इसे किचन गार्डन, गमलों और पॉली हाउस में उगाया जा सकता है।

सितंबर महीने में इसके बीज नौणी विवि में मिलना शुरू हो जाएंगे। इसका बीज आम बंदगोभी के मुकाबले दो के बजाय छह माह में तैयार हो सकेगा। इसे पेटेंट करवाने की कवायद शुरू हो गई है। चाइनीज कूजिन के अलावा सलाद में इस बंदगोभी की खासी डिमांड है।