अब मरीजों को कृत्रिम घुटनों के लिए लाखों रुपए खर्च नहीं करने पड़ेंगे | केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने घुटनों के मरीजों के लिए एक बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल, सरकार ने कृत्रिम घुटनों की कीमत में 59 से 69 फीसदी तक की कटौती की घोषणा की है। अब मरीजों को कृत्रिम घुटनों के लिए लाखों रुपए खर्च नहीं करने पड़ेंगे। जो इलाज लाखों रुपए में होता था। वह इलाज हजारों रुपए में हो जाएगा।

- केंद्रीय रसायन एवं उवर्रक मंत्री अनंत कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले की प्राचीर से मंगलवार को सस्ती दवाओं की उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। इस घोषणा के तुरंत बाद ही यह कदम उठाया गया है। 

-केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कृत्रिम घुटने को दवा की श्रेणी में रखा है।

-एनपीपीए ने दवा मूल्य नियंत्रण आदेश के तहत कृत्रिम घुटने की कीमतों को नियंत्रित करने का आदेश जारी किया है, जो तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। इससे मरीजों को काफी राहत मिलेगी। 

घुटना प्रत्यारोपण के प्रकार             पहले              अब             

1.कोबाल्ट क्रोमियम                   1,58,324          54,720            

(सबसे अधिक इस्तेमाल)

 

2.विशेष धातु से जैसे टाइटेनियम

और ऑक्साइड जीरकोनियम से बने   2,49,251          76,600

 

3. उच्च लचीला प्रत्यारोपण            1,81,728           56,490

 

4. रीविजन इम्प्लांट                     2,76,869          1,13,950