यहां कुछ इस तरह मनायी गई ईद , काली पट्टी बांधकर पढा नमाज - जानकर हो जायेंगे दंग

एनएनआई हरियाणा    बल्लभगढ मे पिछले हफ्ते  हुए शर्मनाक हादसे के बाद इसका असर अभी ईद पर भी दिख रहा है । जी हां --हरियाणा के बल्लभगढ़ स्टेशन पर पिछले हफ्ते गुरुवार को एक चौंकाने वाला हादसा हुआ। यहां मुस्लिम समुदाय के चार लड़कों को इतना पीटा गया कि एक की मौत हो गई और तीन घायल हो गए। मरनेवाले लड़के का नाम जुनैद है। यह पूरा हंगामा ट्रेन में सीट को लेकर हुआ. कुछ बदमाशों ने इन लड़कों को सीट से हटाने की कोशिश की। जब ये सीट से नहीं हटे तो इन पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर उन लोगों ने इनकी जमकर पिटाई कर दी। अब इस घटना से नाराज़ इन लड़कों के गांव खंदावली और उसके आसपास के गांव के लोग आज ईद नहीं मना रहे हैं। यहां के लोगों ने सुबह सिर्फ़ ईद-उल-फितर की नमाज अदा की। उस दौरान इन सभी लोगों ने अपने हाथ पर काली पट्टी बांध रखी थी।मामले में गिरफ्तार आरोपी का कहना है कि उसके दोस्‍तों ने उससे कहा था कि उनलोगों को मारो क्‍योंकि वो लोग बीफ खाते हैं। जब पत्रकारों ने आरोपी से पूछा कि उसे क्यों मारा, क्या कोई बीफ की बात हुई थी? इसपर आरोपी ने कहा, 'मैं शराब के नशे में था। मुझे फोन कर बुलाया गया था। मैंने बीफ की बात नहीं की, मेरे दोस्त कह रहे थे कि ये गाय खाते हैं, इन्हें मारो.' ये आरोपी उसी भीड़ का हिस्सा है जिसने गुरुवार को एक लोकल ट्रेन में पीट-पीटकर जुनैद नाम के शख्स की हत्या कर दी जबकि जुनैद के तीन भाई घायल हैं।