नाभा जेल ब्रेक मामले में गुरदासपुर पुलिस की तरफ से किये गए एहम खुलासे

   एनएनआई  (पंजाब)      पुलिस जिला गुरदासपुर की तरफ़ से नाभा जेल ब्रेक मामले में कई बड़े खुलासे किये है पुलिस की तरफ से एहम तौर पर उस गाड़ी को काबू किया है जिस गाड़ी में सवार होकर विक्की गौंडर के साथी नाभा जेल ब्रेक कर विक्की गौंडर को भगा कर ले गए थे और वह गाड़ी एक अकाली दल पार्टी के सरपंच से की गयी है और पुलिस ने खुलासा किया है की जिस अकाली दल के सरपंच को उन्होंने गाड़ी समेत काबू किया है वह अलग अलग राज्यों से गाड़ियों की लूट करता था और आगे इन गैंगस्टर्स को वारदात करने के लिए देता था। यह सब खुलासे पुलिस रिमांड में गैंगस्टर विक्की गौंडर के खास साथी ज्ञान खरलावाले की तरफ से किये गए है। 

 गुरदासपुर पुलिस की तरफ से पिछले कुछ दिन पहले 10 जून को गैंगस्टर विक्की गौंडर के खास साथी रविंदर सिंह उर्फ़ ज्ञान खरलावाला को काबू किया था वहीँ पुलिस की तरफ से ज्ञान खरलवाले को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड में पूछताछ के लिए लिया गया था वहीँ अब गुरदासपुर पुलिस ने बताया की ज्ञान खरलावाला ने नाभा जेल ब्रेक केस में काफी खुलासे किये है यह सामने आया है की ज्ञान खरलवाला की तरफ से खुद गाड़ी में सवार होकर जेल ब्रेक करने और फिर गैंगस्टर विक्की गौंडर को भागने में शामिल था और जो पुलिस वर्दी में उसका साथी हैरी मजीठिया था।  वहीँ इस वारदात में इस्तमाल होने वाली हौंडा सिटी गाड़ी भी पुलिस की तरफ से बरामद कर ली गयी है। और तो और गुरदासपुर पुलिस के डी एस पी देव दत्त ने बताया की यह गाड़ी गैंगस्टर्स को देने वाला और इन गैंगस्टर्स को अक्सर पनाह देने वाले एक अकाली दल पार्टी से संबंद रखने वाले गांव तलवंडी भूथनगढ़ के सरपंच जगरूप सिंह और उसके रिश्तेदार गगन सिंह को भी ग्रिफ्तार किया गया है जह वही गैंगस्टर्स है जो ज्ञान खरलवाला की गिरफ्तारी के दौरान भाग गए थे 

गुरदासपुर पुलिस डी एस पी ने यह बताया की ज्ञान खरलावाला की तरफ से किये गए खुलासे के चलते उन्होंने यहाँ इन गैंगस्टर्स को गाड़िया और पनाह देने वाले सरपंच जगरूप सिंह और उसके रिश्तेदार गगन सिंह को ग्रिफ्तार किया है वहीँ इन दोनों से नाभा जेल ब्रेक में इस्तमाल हुई हौंडा सिटी के इलावा  तीन छीनी हुई गाड़िया ,creata , इनोवा ,स्कार्पियो भी बरमाद हुई है जबकि पुलिस ने बताया की जगरूप सिंह और गगन सिंह दूसरे जिलों और राज्यों में पिस्तौल की नोक पर गाड़ियों की लूट करता था और फिर यह गाड़िया गैंगस्टर को दे देता था जिस पर सवार हो वह अलग अलग वारदातों को अंजाम देते थे और जो हौंडा सिटी बरामद हुई है वह हरिके पत्तन से छीनी गयी थी। वहीँ पुलिस अधकारी का कहना है की आगे आने वाले दिनों में और भी बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।