'इंद्रप्रस्‍थ' की कुर्सी पर कब्‍जे के लिए नीतीश और लालू भी तैयार : MCD ELECTION2017

एन.एन.आई पटना: दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव में बिहार के राजनीतिक दिग्गज भी हाथ आजमाने दिल्ली जाएंगे. बिहार में भले ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद), जनता दल (यूनाइटेड) और कांग्रेस मिलकर सरकार चला रही हैं, लेकिन 'इंद्रप्रस्थ' की कुर्सी के लिए तीनों दल एक-दूसरे से जोर-आजमाइश करते नजर आएंगे. राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद, जद (यू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के रामविलास पासवान भी जोर-आजमाइश करने में जुट गए हैं. इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बिहार प्रदेश इकाई के नेताओं ने अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार में जाने के लिए अपने 'बैग' तैयार कर लिए हैं.

नीतीश और लालू प्रसाद की जुगत   
एक अनुमान के मुताबिक, दिल्ली की आबादी में लगभग 30 से 40 लाख तक बिहारी और पूर्वांचल के मतदाताओं की संख्या है, जहां बिहार के नेता अपने-अपने दलों की ओर इन मतदाताओं को आकर्षित करने की कोशिश करेंगे. जानकार यह भी कहते हैं कि इस चुनाव के जरिए नीतीश और लालू दिल्ली में अपनी पैठ बनाने की जुगत में हैं. जद (यू) पूरी तैयारी के बाद भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी नहीं उतार सकी थी, लेकिन एमसीडी चुनाव में बिहार से बाहर निकलने का मौका जद (यू) हाथ से नहीं जाने देना चाहती.

जद (यू) के प्रवक्ता नीरज कुमार कहते हैं कि जद (यू) दिल्ली एमसीडी चुनाव में लगभग सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है. इसके मद्देनजर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पार्टी के पक्ष में मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए नौ अप्रैल को उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली में दो रैलियां करेंगे.

उल्लेखनीय है कि जद (यू) इस चुनाव में अपनी दमदार उपस्थिति दिखाने के लिए पहले से ही कमर कस चुकी है. यही कारण है कि पिछले दिनों जद (यू) ने भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग उठाई है. जद (यू) का यह कदम भोजपुरी मतदाताओं को अपनी ओर लाने का एक प्रयास माना जा रहा है. इससे पहले भी नीतीश कई मौकों पर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग कर चुके हैं.

इधर, राजद के नेता मृत्युंजय तिवारी भी कहते हैं कि राजद दिल्ली एमसीडी चुनाव में भाग्य आजमाएगी. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में प्रचार के लिए लालू प्रसाद और राज्य के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव सहित बिहार के कई नेता दिल्ली जाएंगे।