केरल के एक कॉलेज ने निकाला अजीब फरमान ! कपडे बदलने के दौरान लडकिया खुला रखे अपने बाथ रूम का दरवाजा

एनएनआई कोल्लम:- केरल के एक कॉलेज ने लड़कियों को लेकर अजीब फरमान सुनाया है। इस आदेश को सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे। कॉलेज के इस फैसले को आप तुगलकी फरमान भी कह सकते हैं। लेकिन, कॉलेज प्रशासन को इससे कोई मतलब नहीं है। कॉलेज प्रशासन ने निर्दश दिया है कि ''हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां कपड़े बदलने के दौरान कमरे का दरवाजा लॉक नहीं करें''

 

जानें किस कॉलेज ने सुनाया ये फरमान

- लड़कियों को लेकर फरमान सुनाने वाला कॉलेज का नाम उपासना कॉलेज ऑफ नर्सिंग है।

- न्यूज वेबसाइट द न्यूज मिनट में छपी रिपोर्ट के मुताबिक कॉलेज के प्रिंसिपल एमपी जैसीकुट्टी के निर्देश पर ये फैसला लिया गया है।

- कॉलेज के कई स्टूडेंट्स प्रिंसिपल के इस्तीफे को लेकर धरने पर बैठे हुए हैं।

- शुक्रवार की शाम से ही स्टूडेंट्स इस फैसले के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं।

- छात्राओं के मुताबिक उनपर पिछले कुछ महीनों से अजीबोगरीब नियम थोपे जा रहे हैं।

- खासकर, निचली जाति के स्टूडेंट्स का नए नियमों के जरिए शोषण किया जा रहा है। 

- न्यूज वेबसाइट द न्यूज मिनट को एक स्टूडेंट ने बताया कि ''हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां होमोसेक्सुअल है।''

- उनका ये भी कहना है कि ''डोर को बंद कर लड़कियां मोबाइल फोन इस्तेमाल करती हैं।''

- बता दें कि उपासना चैरिटेबल सोसाइटी इस कॉलेज को फंड मुहैया कराती है।

- यहां के एक बिजनेसमैन रवि पिल्लई इस चैरिटेबल सोसाइटी को चलाते हैं।

- कई स्टूडेंट्स का तो ये भी कहना है कि प्रिंसिपल उनके पर्सनल को डायरी को भी पढ़ते हैं। 

- लाइब्रेरी से इंटरनेट फैसिलिटी को भी हटा लिया गया है। प्रिंसिपल ने स्टूडेंट्स पर पोर्न देखने का आरोप लगाया है।